कोलकाता

कोलकाता

भारत का दूसरा सबसे बड़ा शहर,कोलकाता है| जिसकी खूबसूरती देखने में बहुत अच्छी लगती है जो निराली वास्तु कलाके लिए प्रसिद्ध है यह स्थल लेकिन इस शहर का आकर्षण इसकी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत वाला, सांस्कृतिक और
बौद्धिक राजधानी है। ने औपनिवेशिक-युग में कोलकाता सबसे आगे है यहाँ पर घूमने के लिए पर्यटक अपनी ज्यादा से ज्यादा छुट्टी लेकर,यहाँ पर आकर मौज मस्ती करते है| कोलकाता की विरासत और संस्कृति कलात्मक, के साथ कोलकाता का पर्यटन सबसे बेस्ट है| ऐतिहासिक पर्यटन स्थलों के अलावा आप यहां जगह-जगह स्ट्रीट फूड
का आनंद ले सकते हैं। यहाँ पर मनोरंजन करने के लिए भी बहुत सारे साधन है| यहाँ आप लक्जरी रिहाइश, धूप सेंकने, डाइविंग, वाटर स्पोर्ट्स गतिविधियों या नाइटलाइफ़, पार्टियों के का भी आनंद ले सकते है| जिसके पर्यटन के
यहाँ पूरे वर्ष भीढ़ लगी रहती है| यह बहुत समुद्र तट घाटी प्रेमियों के लिए एक आदर्श पिकनिक अपने दोस्तों परिवार के लोगो के साथ मनाने के लिए आते है| यहाँ पर आकरआप लगी बाजारों में खरीददारी भी कर सकते है | कोलकाता जहां स्थानीय | सुन्दर सुन्दर द्रश्यो को देख सकते है|

कोलकाता घूमने का सबसे अच्छा समय

अक्टूबर और फरवरी के बीच शरद ऋतु और सर्दियों के महीने कोलकाता की यात्रा के लिए सबसे अच्छा समय होता है और यहाँ उत्सव बहुत अच्छे होते हैं


कैसे पहुंचे कोलकाता


सड़क मार्ग द्वारा

स से भारत के लगभग किसी भी हिस्से से कोलकाता के लिए नियमित बस सेवाएं हैं। दिल्ली से, NH 19 के माध्यम से, कोलकाता पहुँचने में लगभग एक दिन लगता है। आसपास के शहरों जैसे खड़गपुर, हल्दिया आदि से भी बसें उपलब्ध हैं

रेल मार्ग द्वारा

-कोलकाता में दो मुख्य रेलवे स्टेशन हैं- हावड़ा और सियालदह। यह भारत के सभी बड़े स्टेशनों से जुड़ा हुआ है और यह उत्तर-पूर्वी भारत का प्रवेश द्वार है| जहाँ से आप शहर के सभी भागों के लिए टैक्सी, बस या ऑटोरिक्शा करसकते है |

हवाई मार्ग द्वारा

अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा कोलकाता को दक्षिण पूर्व एशिया और यूरोप के कुछ देशों से जोड़ता है। घरेलू टर्मिनल देश में सर्वश्रेष्ठ में से एक है और सभी प्रमुख शहरों और शहरों से जुड़ा हुआ है। हवाई अड्डे से शहर तक टैक्सी उपलब्ध हैं, जो 20 किमी की दूरी पर स्थित है।