हावड़ा

हावड़ा

पश्चिम बंगाल के माध्यम से बहने वाली हुगली नदी के पश्चिमी तट पर स्थित एक आकर्षक शहर हैजो एक विश्व प्रसिद्ध आकर्षण यह नाम एक बंगाली शब्द, Haor से लिया गया है, राज्य के लगभग 1500 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में व्याप्त है यह पर्यटनो को तलाशने के लिए एक रोमांचक जगह बनी है हावड़ा न केवल देश में एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल बना हुआ है शहर बड़ी चीज़ों के लिए है, लेकिन यह अपनी अति-आकर्षक और दिल को छू लेने वाली संस्कृति को कभी नहीं सकता है| पर्यटकों को हर बार एक नया नजारा देखने के संख्या में आकर्षित करता है। प्राकृतिक रूप से खूबसूरत एक औद्योगिक शहर होने के साथ-साथ हावड़ा शिक्षा के गढ़ के रूप में
भी विकसित हो रहा है वैसे तो यहां कई यूनिवर्सिटी है, यह पेड़ कई इलाकों में फैला हुआ है। यहां की संतरागाछी झील में ढेरों प्रवासी पक्षी आते हैं और यह जगह फोटोग्राफरों के बीच देखने लायक है| और स्थानीय लोगों के बीच काफी लोकप्रिय हैदुर्गा पूजा का समय हावड़ा घूमने के लिए सबसे अच्छा माना जाता है।
यह त्योहार यहां बड़े उल्लास के साथ मनाया जाता है। दुर्गा पूजा, दशहरा, काली पूजा और दिवाली इस क्षेत्र के कुछ चर्चित त्योहार हैं। त्योहारी मौसम में बड़ी मात्रा में बंगाली मिठाई तैयार की जाती है और इसकी लोकप्रियता पूरे भारत में इसलिए लोग
अपने परिवार वालो या दोस्तों के साथ दुर्गा पूजा को देखने के लिए हावड़ा जाते है| हावड़ा का एक पर्यटन स्थल है|

हावड़ा घूमने का सबसे अच्छा समय

हावड़ा नवंबर और फरवरी के बीच जाने का अच्छा समय होता है |

हावड़ा के पर्यटन, दर्शनीय स्थल

  1. संतरागाछी झेल
  2. हुगली नदी
  3. हावड़ा ब्रिज
  4. विद्यासागर सेतु
  5. मुल्लिक घाट में फ्लॉवर मार्केट
  6. वनस्पति उद्यान
  7. गडियारा
  8. बेलूर मठ
  9. रेल संग्रहालय
  10. बेलिलियस पार्क
  11. ग्रेट बरगद का पेड़
  12. लाल दिघी

कैसे पहुंचे हावड़ा


सड़क मार्ग द्वारा

नेशनल हाइवे 6 और 2 से हावड़ा राज्य और देश के बाकी हिस्सों से जुड़ा हुआ है। जमशेदपुर, सिलीगुड़ी और दाजर्लिंग जैसे नजदीकी शहरों से यह सड़क मार्ग से जुड़ा हुआ है।

रेल मार्ग द्वारा

कुछ लंबी रूट की ट्रेनों के जरिए हावड़ा राज्य और देश से जुड़ा हुआ है। यहां से मुंबई और नई दिल्ली के लिए नियमित ट्रेनें मिलती हैं।

हवाई मार्ग द्वारा

एयरपोर्ट देश के बाकी हिस्सों से जुड़ा हुआ है। यहां से मुंबई दिल्ली सहित कुछ अन्तर्राष्ट्रीय गंतव्य के लिए भी उड़ानें मिलती हैं। यह एयरपोर्ट हावड़ा से 34 किमी दूर है।