बांकुड़ा

बांकुड़ा

पश्चिम बंगाल राज्य का एक ऐतिहासिक शहर बांकुड़ा है जो जो अपनी पहाड़ियों और मंदिरों के लिए प्रसिद्ध है यहाँ कला और मंदिर घने जंगल हरे भरे पहाड़ियों से लेकर दर्शनीय स्थलों से पर्यटकों को आकर्षित करती है| जो हरी भरी पहाड़िया झीलों के बीच मौज मस्ती करने की बहुत अच्छी जगह है और बांकुड़ा अपने मंदिरों के लिए प्रसिद्ध है जो दुनिया भर के पर्यटकों को आकर्षित करता है सिधेश्वरा मंदिर, बिहारिनाथ है चारो तरफ से चारों तरफ से पहाड़ियों से घिरी, झील का पानी अभी भी नीला आसमान के ऊपर एक सम्मोहक दृश्य प्रदान करता है और प्रकृति के प्रेमियों के लिए इसकी प्रमुख सुंदरता का आनंद है| यहाँ पर्यटकों के लिए घूमने के खूबसूरत स्थल है यह बहुत समुद्र तट प्रेमियों के लिए एक आदर्श पिकनिक स्थल है जो अपने दोस्तों या परिवार के लोगो के साथ मनाने के लिए आते है बांकुड़ा में आकर्षित झील, प्राकृतिक हरियाली और सुंदर उद्यान की खूबसूरती की चर्चा बहुत दूर दूर तक है
|यह स्थल पर्यटकों को शांति और ख़ुशी का एहसास प्रदान करता जंगलो के बीच यहाँ पर, प्राकृतिक सुन्दरता देखने को मिलती है| बांकुड़ा अपने टेराकोटा मंदिरों के लिए भी प्रसिद्ध है जो दुनिया भर से पर्यटकों को आकर्षित करता है। पश्चिम में, बांकुरा से लगभग 50 किलोमीटर दूर स्थित, सुसुनिया हिल में प्राकृतिक गर्म पानी के झरने की यात्रा की जा सकती है। इस शहर की अपनी अलग संगीत परंपरा है जिसे बिष्णुपुर घराना के नाम से जाना जाता है।बिहारनाथ और सुसुनिया में पहाड़ी प्राकृतिक आश्चर्य के स्थान हैं और ट्रैकिंग और पैदल चलने के लिए आदर्श हैं।

बांकुड़ा घूमने का सबसे अच्छा समय

बांकुड़ा में पर्यटकों के घूमने के लिहाज से अक्टूबर और मार्च के बीच का समय आदर्श होता है |

बांकुड़ा के पर्यटन, दर्शनीय स्थल

  1. सुसुनिया हिल
  2. जोराबती
  3. झिलमिल
  4. बिष्णुपुर
  5. गोकुल चंद मंदिर

कैसे पहुंचे बांकुड़ा


सड़क मार्ग द्वारा

इस शहर के लिए नजदीकी शहरो और कस्बो से बांकुड़ा के लिए बसें उपलब्ध हैं

रेल मार्ग द्वारा

बांकुड़ा में अपना रेलवे स्टेशन है, जो कोलकाता तथा स्टेशनों के माध्यम से राज्य के अन्य शहरों से भी जुड़ा हुआ है।

हवाई मार्ग द्वारा

बांकुड़ा के लिए निकटतम अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा है, जो भारत के बड़े शहरों तथा विदेशी गंतव्यों से भी जुड़ा हुआ है।