नैनीताल

नैनीताल

नैनीताल हिल स्टेशन भारत का एक अविश्वसनीय गंतव्य है जहां हनीमून मनाने वाले, छुट्टियां मनाने वाले और प्रकृति प्रेमी बड़ी संख्या में आते हैं

यहाँ की हरी भारी हरियाली से भरा नैनीताल जो है बेहद ठंडा, और यहाँ के ऊचें पहाड़, खुबसूरत मंदिर और दिल के आकार की बनी बगिया, झीले मानो इसे सजा रही हो| उत्तराखंड के दर्शनीय कुमाऊं क्षेत्र के बीच स्थित है। नैनीताल शहर सात पहाड़ों से घिरा है। इसकी प्राकृतिक सुंदरता और सुगंधित मोमबत्तियाँ दूर-दूर से कई पर्यटकों को आकर्षित करती हैं

कई सारी खुबसूरत झीलों होने के कारण इसकी खूबसूरती दिन पर दिन बढती जा रही है और इसी कारण इसे "झीलों का शहर" भी कहा जाता है यहाँ मौसम के तो क्या कहने है जो पल पल बदलता रहता हो और प्रकर्ति आँख का खेल मिचोली हरदम यहाँ खेलती रहती है अगर आपको कुछ दिन थकान रहित दिन बिताने हो तो फिर नैनीताल से बढ़िया कोई टूरिस्ट प्लेस है ही नहीं जहाँ पर दुनिया के हर कोने से लोग आते है नैनीताल में लोगो के दिल को छुजाने वाली नैनी झील है अपने आप में मनोरम और दिलचस्प है| आप यहाँ बोटिंग का मज़ा ले सकते है और झील को करीब से देख सकते है, पहाड़ो पर से पड़ते सूरज के निराले प्रभाव को देख सकते है | इसकी प्राकृतिक सुंदरता दिलों को पिघला देती है।

झीलों बाले कस्बे के नाम से प्रसिद्ध नैनीताल उत्तराखंड राज्य में 1938 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है मॉलरोड यहाँ की प्रसिद्ध मार्केट है तो आप यहाँ जाना न भूलें। और हां अगर आपके पास पर्याप्त समय हो तो 60 किलोमीटर से 100 किलोमीटर की दूरी पर स्थित रानीखेत कौसानी अल्मोड़ा व कार्बेट नेशनल पार्क जैसे आस-पास के कई पर्यटक स्थलों को भी यात्रा कार्यक्रम में शामिल किया जा सकता है।

नैनीताल क्यों जाए

नैनीताल का रोमांटिक वातावरण और सरासर प्राकृतिक सौंदर्य इसे देश का एक प्रसिद्ध हिल स्टेशन

नैनीताल घूमने का सबसे अच्छा समय

गर्मियों या वसंत का मौसम मार्च से जून तक सुंदर शहर नैनीताल की यात्रा करने का सबसे अच्छा समय है। गर्मियों की चिलचिलाती धूप से बचने के लिए हिल स्टेशन एक शानदार जगह है। हिम प्रेमी नवंबर से फरवरी के बीच यात्रा की योजना बना सकते हैं । जुलाई से सितंबर के बीच के मानसून के महीनों से बचा जाना चाहिए क्योंकि इस समय के दौरान जगह में भारी गिरावट आती है।

नैनीताल के पर्यटन, दर्शनीय स्थल

  1. चौकोरी
  2. भीमताल
  3. अल्मोड़ा
  4. रानीखेत
  5. लैंसडाउन
  6. मुक्तेश्वर
  7. सत्तल
  8. चंपावत
  9. नौकुचियाताल
  10. पिथौरागढ़
  11. कौसानी
  12. ऋषिकेश

कैसे पहुंचे नैनीताल


सड़क मार्ग द्वारा

शहर एक सड़क नेटवर्क द्वारा अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।

रेल मार्ग द्वारा

काठगोदाम में निकटतम रेलहेड है , जो 35 किलोमीटर दूर है।

हवाई मार्ग द्वारा

निकटतम हवाई अड्डा पंतनगर में है , जो 71 किलोमीटर दूर है। एक कोच पर्यटकों को नैनीताल ले जाता है। यहाँ टैक्सी और बसें भी उपलब्ध हैं।