देवप्रयाग

देवप्रयाग
यह भारत का सबसे पचीन विरासत वाला स्थल है देव्प्राग | देवपयाग एक संगम की भूमि है | जिससे कल कल करती नदिया अपना अपना अलग विशेष आशीर्वाद देवप्रयाग से जुड़कर |एक पवित्रता का मार्ग बन जाती है | यहाँ पर राम जी जीत हासिल कर इसी मार्ग पर विश्राम ,स्नान किया था | जो समुन्द्र में गोते लगाते हुए १५०० फिट ऊँचे मार्ग से अपना करतब दिखा रही है | यहाँ पर भारत के कोने कोने से साधू,संत ,ऋषि मुनि पवित्र भूमि के चरण स्पर्श करने के लिए आते है |