आगरा मे सबसे खूबसूरत जगहो मे से एक नगीना मस्जिद को शाहजहाँ ने 1631 – 1640 ई मे निर्मित| के दौरान शाही महिलाओ के लिए बनवाया था| निजी मस्जिद का निर्माण सफ़ेद संगमरमर का उपयोग करके वास्तुकला और सभ्य सजावट के साथ किया गया था| मस्जिद मे सराहनीय मेहराब और गुम्बद भी है| प्रार्थना कक्ष निजी मस्जिद के पश्चिमी तरफ स्थित है| नगीना मस्जिद मे एक मस्जिद है आगरा फोर्ट शाहजहां द्वारा बनाया गया था| इसे जेम मस्जिद या गहना मस्जिद के रूप मे भी जाना जाता है| नगीना मस्जिद आगरा के किले मे एक वास्तुशिल्प सुन्दरता है| यह पास में स्थित एक अन्य आंख वाली मस्जिद है| जिसे मोती मस्जिद के नाम से जाना जाता है| इस मस्जिद का निर्माण शुद्ध सफ़ेद आकर्षक संगमरमर से किया गया है| और प्रार्थना कक्ष को अच्छी तरह से डिजाइन किया गया है। यह एक बहुत ही सरल वास्तुकला और मूल सजावट है| ऊपर की ओर गहरी मेहराब के नीचे साधारण खम्भो द्वारा मस्जिद को तीन खंडो मे बिभाजित किया गया है| केन्द्र मे मेहराब बड़ा है और नौ cusps है, एक बार चेहरे पर केवल सात cusps होते है| मस्जिद के उत्तरी तरफ हाथी पोल झूठ पर चलने वाली सड़क के मनोरम द्रश्यो को प्रस्तुत करने वाली एक बालकनी है| इस निजी मस्जिद मे तीन राजसी गुम्बदो और अद्भुत मेहराब की विशेष विशेषताएं है| एक शानदार बाजार जिसे मीना बाजार के नाम से जाना जाता है| जहाँ से शाही महिलाएं नगीना मस्जिद की बालकनी मे खड़े सामान खरीद सकती थी|