मेहताब बाग़ यमुना नदी के तट पर एक बाग़ का निर्माण सम्राट बाबर ने करवाया था और यह नदी के पूर्वी किनारे पर बने 11 ऐसे उधानो की श्रृंखला का अंतिम था| यह बाग़ पश्चिम के दो अन्य उधानो में भी शामिल है, जिन्हें चाहर बाग़ पद्शी और दूसरा बाग़ पधशी के नाम से जाना जाता है| मूल रूप से चार बलुआ पत्थर की मीनारो ने मेहताब बाग़ के कोनो को चिन्हित किया, जिनमे केवल एक दक्षिण पूर्व छोर पर है|इस बाग़ का अर्थ एक चाँदनी उधान है, जो ताजमहल उत्तर मे यमुना नदी के विपरीत है| एक वर्ग उधान जिसकी माप 300 मीटर 300 मीटर है, यह आंशिक रूप से बारिश के दौरान बाढ़ के मौसम मे बाढ़ का कारण बन जाता है| इसे मुग़ल सम्राट बाबर ने बनवाया था| रिवरफ्रंट टैरेस पैटर्न मे डिज़ाइन यह ताज कॉम्प्लेक्स के लिए एक महत्वपूर्ण हिस्सा है| मेहताब बाग की संरचना चारबाग परिसर के रूप मे है।गार्डन को लाल बलुआ पत्थर के साथ ईट, चूने के प्लास्टर और पहने से बनी एक मिश्रित दीवार से घिरा हुआ बताया गया अष्टकोणीय आकार के गुम्बद कोने मे स्थित थे| प्रवेश द्वार के पास एक छोटा दलित मंदिर मौजूद है| वर्तमान मे इसे मेहताब बाग़ जिसे 'मूनलाइट गार्डन' के रूप में भी जाना जाता है| बगीचो में इसके बाहरी किनारो पर एक बड़ा तालाब भी जो ताज की छवि को दर्शाता है, प्राकृतिक द्रश्यो की सुन्दरता बढ़ाने वाले पानी के चैनलो के अलावा, बगीचे के केन्द्र मे एक छोटा टैंक भी है आगरा मे घूमने के लिए सबसे खूबसूरत जगहो मे से एक माना जाता है| आगरा मे इस लोकप्रिय पर्यटक आकर्षण की सभी महत्वपूर्ण विशेषताओ को इसके मूल रूप में बहाल किया इसकी पुरानी भव्यता को वापस लाने के लिए साइट्रस, हिबिस्कस और अमरूद जैसे कई पौधे भी लगाए गए है| शानदार सूर्यास्त के द्रश्य को देखने के लिए एक आदर्श स्थान है| इस उद्यान से ताजमहल का एक आदर्श दृश्य देखा जा सकता है।सूर्योदय से सूर्यास्त तक खुलने का समय| इसकी यात्रा के लिए अपने व्यापक पैदल मार्ग, सुन्दर कैनोपी, सुन्दर पूल, फव्वारे और फलो के पेड़ो का आनंद ले| मेहताब बाग ताजमहल के द्रश्यो के एक शानदार फोटो अवसर प्रदान करता है|