राजधानी:
गान्तोक
स्थान:
पूर्वी भारत
सिक्किम घूमने का सबसे अच्छा समय:
सिक्किम की यात्रा के लिए मार्च और जून के बीच एक आदर्श समय है।
सिक्किम क्यों जाएँ ?:
पूर्वोत्तर में बसा, देश का सबसे कम आबादी वाला राज्य, माउंट खंगचेंडज़ोंगा के दृश्य के लिए, बौद्ध तीर्थ स्थलों के लिए, ट्रेकिंग, पर्वतारोहण और रिवर राफ्टिंग जैसी साहसिक गतिविधियाँ के लिए, उच्च ऊंचाई वाली झीलें और पर्वत दर्रे ले लिए, भव्य संस्कृति, हनीमून स्थलों, लोक नृत्य, मेलों और त्यौहारों के लिए प्रसिद्ध
भाषा:
नेपाली

चुनिन्दा टूरिस्ट प्लेस सिकिम यहाँ पर आप आसमान की तरफ नजरो को उठाओ तो नीला आसमान आखो की रौशनी बढाता है साथ ही मुख्य पर्यटन स्थान पर आपको छोटी छोटी पथरिया हर समय तेज हवा के साथ फिसलती हुई लुरकती रहती है जो कभी कभी इकट्ठी होकर कोई भी आकार या आकृति बना देती है | और यहाँ का वातावरण हर समय बड़े विशाल वृक्ष और उन पर लदे हुए फल और पत्तिया हर समय हल्की तेज आंधी में खुश होकर मानो नाच रही और और पक्षी उन वृक्षों पर बैठ कर अपनी धुन बजा रहे हो | है न यहाँ पर सब कुछ बिक्कुल स्वर्ग जैसा साथ ही धरती पर हर समय सफ़ेद सफ़ेद नमक जैसा हर समय ठंडा पदार्थ बिखरा रहता है सिक्किम में घूमना फिरना मस्ती करना किसी जन्नत से कम नहीं है जिन लोगो को ऊचाई वाले स्थानों पर जाना होता है वो लोग यहाँ की सैर को निकालने का मौका ढूंडते है | हर जगह की खूबसूरती और सोंदर्य का मज़ा ऊचाई से ही देखने में आता है| यह सिक्किम पहाड़ी इलाके वाला शहर है| जिसकी पहाड़िया इतनी विशाल है की अपने कल्पना भी नहीं की होगी |जो ई 280 मीटर से 8,585 मीटर तक है |

how to reac Sikkim कैसे पहुंचे सिक्किम

कैसे पहुंचे सिक्किम

  • Flight Icon वायु मार्ग से जाने के लिए आपको पश्चिम बंगाल के बागडोगरा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर निर्भर रहना पड़ता है।यह वायु वाहन यह हवाई अड्डा सिक्किम की राजधानी गंगटोक से लगभग 123 किलोमीटर की दूरी पर बना सबको सिक्किम की सैर कराता है |यहां से कैब को किराए पर लेकर या दोनों गंतव्यों के बीच नियमित रूप से बस में सवार होकर पहुंचा जा सकता है। बागडोगरा हवाई अड्डा कोलकाता, नई दिल्ली, चेन्नई, मुंबई, बैंगलोर और गुवाहाटी जैसी जगहों से आने वाली उड़ानों के लिए एक प्रमुख रुकने के स्थान है |
  • Car Icon राष्ट्रीय राजमार्ग 31 द्वारा उत्तर-पूर्व भारत का प्रवेश द्वार। यह ट्विस्टी सड़कों पर 4 घंटे145 किमीका ठीक रास्ता है जो जंगल और कालीन वाली पहाड़ियों से होता हुआ जाता है |126 किमी कोलकाता 700 किमी कालिम्पोंग 104 किमी और बागडोगरा153 किमी से भी सिक्किम आसानी से जाया जा सकता है | जिसके लिए नियमित एसएनटी सिक्किम राष्ट्रीयकृत परिवहनबसें उपलब्ध हैं।
  • Train Icon 187 किमी दूर सिक्किम के पास का जलपाईगुड़ी रेलवे का मार्ग जो कोलकाता, गुवाहाटी, दिल्ली और मुंबई जैसे प्रमुख शहरों से अच्छी तरह से जुड़े हुए यहाँ की सैर कराते है |कुछ ट्रेनें और भी है जो कोलकाता से जलपाईगुड़ी तक चलती हैं,जो 593 किमी की दूरी पर है |

Most Viewed