राजसमंद

राजसमंद

राजस्थान की संगमरमर की भूमि / राजसमंद उदयपुर से लगभग 67 किमी दूर स्थित है| संगमरमर के उत्पादन के लिए काफी प्रसिद्ध होने आयर देश का सबसे बड़ा संगमरमर उत्पादक होने के अलावा यह एक ऐसा शहर भी है जिसमे सुन्दर झीले, विस्मयकारी महल, महान ऐतिहासिक महत्व और एक राष्ट्रीय उद्यान भी है| जिले के सबसे प्रसिद्ध स्थानो में कुम्भलगढ़ किला है, जहाँ महाराणा प्रताप का जन्म हुआ था हल्दीघाटी, प्रसिद्ध युद्धक्षेत्र, द्वारिका धेश, Charbhuja; और कई शिव मंदिर है| यह आपको इसके समर्ध इतिहास, धर्म, संस्कृति और खनन उद्योग में झलकने और देखने का अवसर प्रदान करता है| राणा कुम्भा के समय में मेवाड़ का राज्य रणथम्भौर से ग्वालियर तक फैला था| जिसमे वर्तमान राजस्थान और मध्य प्रदेश के विशाल पथ शामिल है| यहाँ के शासक भारतीय मार्शल और ललित कला वास्तुकला और सीखने में सर्वश्रेष्ठ थे| मेवाड़ की रक्षा करने वाले 84 किलो में से 32 राणा कुम्भा द्वारा डीजाइन और निर्मित किए गए थे| इनमे से कुम्भलगढ़ अपनी 36 किलोमीटर लंबी दीवार और बढ़ते टॉवरो के साथ सबसे प्रभावशाली है| भारत के मौर्य सम्राटो के एक जैन वंशज से सम्बंधित दूसरी शताब्दी ईस्वी पूर्व के एक प्राचीन गढ़ के स्थल पर स्थित है| इसकी स्टील ग्रे प्राचीर उपजाऊ शेरो मल्लाह घाटी को घेरती है, प्राचीन स्मारको सेनोटाफ़, तालाबो और फलते – फूलते खेतो के साथ| कुम्भलगढ़ और हल्दीघाटी के प्रसिद्ध ऐतिहासिक क्षेत्रों के अलावा यह स्थान बिभिन्न सम्प्रदायो के लिए धार्मिक महत्व भी रखता है| यही पर श्रीनाथजी का मंदिर जो वैष्णव समुदाय के प्रमुख देवता थे| द्वारकाधीश मंदिर की मान्यता है कि एक चमत्कारी मूर्ति भी स्थित है| चार हाथो वाला भगवान विष्णु का मंदिर (चारभुजा) भगवान शिव को समर्पित कई मंदिर भी यहाँ देखे जा सकते है| यह अपने संगमरमर शिल्प के लिए सबसे प्रसिद्ध है| और देश का सबसे बड़ा संगमरमर उत्पादन इकाई और जिला है|

राजसमंद क्यों जाए

संगमरमर के उत्पादन , सुन्दर झीले , विस्मयकारी महल , मंदिर , महान ऐतिहासिक महत्व |

राजसमंद घूमने का सबसे अच्छा समय

राजसमंद की सबसे अच्छी यात्रा सितंबर से मार्च के बीच होती है । इस दौरान मौसम बहुत सुहावना बना रहता है।

राजसमंद के पर्यटन, दर्शनीय स्थल

  1. राजसमंद झील
  2. कांकरोली
  3. हल्दीघाटी
  4. कुम्भलगढ़ वन्यजीव अभयारण्य|