घानेराव

घानेराव

राजस्थान के पाली के देसूरी तहसील का एक गावं सदरी देसुरी रोड राजमार्ग 16 स्थित है| घनेराव अपनी विरासत वन्य जीवन और भव्य परिद्रश्य और यहाँ बोली जाने वाली भाषा मुरलीधर के लिए प्रसिद्ध है| यह स्थान हिन्दू मंदिरों लक्ष्मी नारायणजी, मुरलीधर और चारभुजाजी और ग्यारह जैन मंदिरों से घिरा है आसपास के अन्य उल्लेखनीय मंदिरों में लक्ष्मी नारायणजी, चारभुजाजी, चौबिया और मुरलीधा के हिंदू मंदिर शामिल हैं। शानदार मंदिरों को देखने के अलावा, घनेराव में सबसे अच्छी चीजों में से एक में भाग लेना और उत्सव का हिस्सा बनना है, जो अक्टूबर और मार्च के महीनों के बीच होता है। आप पास के कुंभलगढ़ अभयारण्य में एक वन्यजीव यात्रा पर जा सकते है।

घानेराव क्यों जाए

वन्य जीवन , भव्य परिद्रश्य , मंदिर |

घानेराव घूमने का सबसे अच्छा समय

इसकी यात्रा करने के लिए अक्टूबर से फरवरी का समय सबसे अच्छा है |गर्मी के मौसम (अप्रैल – जून) के दौरान अपनी यात्रा की योजना बनाने से बचे क्योकि उच्च आर्द्रता और तापमान के कारण इसे बाहर निकालना मुश्किल हो सकता है।

घानेराव के पर्यटन, दर्शनीय स्थल

  1. लक्ष्मी नारायणजी
  2. मुरलीधर
  3. चारभुजाजी और ग्यारह जैन मंदिरो
  4. चौबिया
  5. मुरलीधा |