भुवनेश्वर

भुवनेश्वर

'टेम्पल टाउन, और ओडिसा की राजधानी होने के कारण एक खूबसूरत शहर है | इसे "टेम्पल सिटी ऑफ़ इंडिया" भी कहते है | भुवनेश्वर ऐतिहासिक और धार्मिक दृष्टि से बहुत ही रोचक शहर है। यह आपको पुराने शहर के पवित्र केंद्र मे ले जाने की अनुमति देगा,यह भारत का मंदिर शहर जो कभी अपनी वास्तुकला और भव्य मंदिरो के लिए जाना जाता था | भुवनेश्वर सुंदर ऐतिहासिक मंदिरो से भरा प्राचीन शहर है जो देश के तीर्थयात्रियो और पर्यटको को आकर्षित करता है | धार्मिक पर्यटन का केन्द्र रहा है यहाँ सदियो पहले बने कई राजसी मंदिर है इनमे लिंगराज मंदिर और परशुरामेश्वर मंदिर अद्भुत बौद्ध शांति पैगोडा धौला गिरि हिल्स देश के सभी हिस्से के पर्यटको को आकर्षित करते है|

अन्य मंदिर जैसे लिंगराज मंदिर, राजारानी मंदिर, मुक्तेश्वर मंदिर, इस्कोन मंदिर, शिरडी साई बाबा मंदिर, राम मंदिर हीरापुर स्थित योगिनी मंदिर और विशाल संख्या मे यहां के अन्य मंदिर ओडिशा मंदिर वास्तुशिल्प का उत्कृष्ट उदाहरण है। जिसमे विभिन्न हिंदू देवी - देवताओ को समर्पित विभिन्न आकारो के 50 तीर्थ शामिल है।मंदिरों में देवताओं, फूलों, जानवरों और मनुष्यों की बेजोड़ नक्काशी है। यहां का रोज गार्डन बहुत प्रसिद्ध है और भारत के सबसे बड़े रोज गार्डन में से एक है।बिन्दु सरोवर लिंगराज मंदिर के पास एक बड़ी झील है।नंदनकानन चिड़ियाघर यह एक बड़ा और बहुत ही सुंदर चिड़ियाघर है और भुवनेश्वर शहर के आकर्षणों में से एक है।गुफाओ का यह जुड़वां समूह बहुत प्राचीन है और यह एक प्राचीन जैन मठ के रूप में सेवा करता है। यह स्थान भुवनेश्वर में सबसे अधिक बार देखा जाने वाला स्थान है। कंडागिरी और उदयगिरी | यह शहर महत्वपूर्ण बौद्ध और हिन्दू तीर्थस्थल है जो पर्यटक भारत की सांस्कृतिक विरासत और उत्कृष्ट कलात्मक रुपकानो को पकड़ने के काम आते है |

भुवनेश्वर क्यों जाए

तोशली, कलिंग नगरी, एकमरा कानन, एकमराक्षेत्र, नगर कलिंग और मंदिरा मालिनी नगरी,मंदिरों के शहर,कोणार्क, पुरी

भुवनेश्वर घूमने का सबसे अच्छा समय

अक्टूबर से मार्च इस पवित्र शहर की यात्रा के लिए सबसे अच्छा समय माना जाता है।

भुवनेश्वर के पर्यटन, दर्शनीय स्थल

  1. परशुरामेश्वर मंदिर
  2. लिंगराज मंदिर
  3. मुक्तेश्वर मंदिर
  4. उदयगिरि और खंडगिरि गुफाएं
  5. नंदनकानन जूलॉजिकल पार्क
  6. धौली पहाड़ी
  7. ओडिशा राज्य संग्रहालय
  8. असतसंभु शिव मंदिर
  9. राम मंदिर
  10. अनंत वासुदेव मंदिर
  11. विरासत
  12. कोणार्क
  13. पुरी
  14. संबलपुर
  15. कटक
  16. राउरकेला
  17. बेरहामपुर

कैसे पहुंचे भुवनेश्वर


सड़क मार्ग द्वारा

राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित होने के कारण, पवित्र शहर कोलकाता से और साथ ही चेन्नई से आसानी से पहुँचा जा सकता है जो शहर को बाकी देशों से जोड़ता है।

रेल मार्ग द्वारा

भुवनेश्वर के रेलवे स्टेशन दक्षिण भारत के सबसे व्यस्त रेलवे स्टेशनो मे से एक है | सुपरफास्ट ट्रेने इस जगह को भारत के कई शहरो जैसे दिल्ली, गुवाहाटी, चेन्नई, हैदराबाद, कोलकाता, अहमदाबाद और मुंबई से जोड़ती है।

हवाई मार्ग द्वारा

भुवनेश्वर का अपना हवाई अड्डा है जिसका नाम बीजू पटनायक अन्तराष्ट्रीय हवाई अड्डा है यह हवाई अड्डा भारत के कुछ मुख्य स्थलो से बहुत अच्छी तरह से जुड़ा है | जिनमे अहमदाबाद , दिल्ली , बैंगलोर , हैदराबाद , मुम्बई और कोलकाता शामिल है |