रतलाम

रतलाम

रतलाम संस्कृति, विरासत, ऐतिहासिक मंदिरों और लुभावने प्राकृतिक द्रश्यो से भरा एक शानदार पर्यटन स्थल है किला और मंदिरों वाला शहर ऐतिहासिक साक्ष्य और पुरातात्विक निष्कर्षो की तलाश में आने वाले पर्यटको के लिए एक अद्भुत स्थल है| मालवा क्षेत्र कपुर्व भाग यह अपने महान गौरवशाली अतीत को दर्शाता है| शहर के बीचो बीच कालिका माता मंदिर भव्य है| रतलाम से लगभग 18 किलोमीटर दूर बिल्पकेश्वर मंदिर जहाँ भगवान शिव मुख्य देवता है जो अपनी पचायताना शैली के साथ शानदार दिखाते है| शिव मंदिर के प्राचीन अवशेष जो कि सुन्दर रूप से भुमिजा किस्म मे निर्मित है, एक जगह पढ़ाई, जिसे झार कहा जाता है जो रतलाम से 12 किलोमीटर दूर है| आलोट मे नागेश्वर मंदिर, जौरा मे हुसैन टेकरी, सैलाना मे कैक्टस उद्यान, पयारावन पार्क पर्यटको द्वारा चुने गए कुछ प्रमुख भ्रमण स्थल है| यह जगह अपनी अच्छी संख्या मे बहते झरनो के साथ पर्यटको के दिल को खुशियो से भर देता है| जामन-पटली, केदारेश्वर, ईसरथुनी भी प्रमुख स्थान है जो एक यात्रा का गुण रखते है। रतलाम अपने स्वादिष्ट स्थानीय सेवइयो के लिए प्रसिद्ध है रतलामी सेव एक प्रसिद्ध स्नैक है| रतलाम अपने स्वादिष्ट स्थानीय सेवइयो के लिए लोकप्रिय है। रतलामी सेव एक प्रसिद्ध स्नैक है। मक्खन और लड्डू के साथ दाल बाटी मालवा क्षेत्र की होठ - स्मैक और हस्ताक्षर व्यंजनो है। यह सोने और चाँदी के व्यापार का एक प्रमुख बाजार स्थान है| सुनिश्चित करे कि आपकी जेब भरी हुई है, क्योकि यहाँ उच्च गुणवत्ता का सोना उपलब्ध है और खरीदने लायक है|

रतलाम क्यों जाए

संस्कृति , विरासत , ऐतिहासिक मंदिरों , लुभावने प्राकृतिक द्रश्यो , किला और मंदिरो वाला शहर |

रतलाम के पर्यटन, दर्शनीय स्थल

  1. कालिका माता मंदिर
  2. बिल्पकेश्वर मंदिर
  3. नागेश्वर मंदिर
  4. जौरा मे हुसैन टेकरी
  5. सैलाना मे कैक्टस उद्यान
  6. पयारावन पार्क
  7. जामन-पटली
  8. केदारेश्वर
  9. ईसरथुनी |