भिंड

भिंड

मध्य प्रदेश मे एक बहुत ही सुन्दर और मनोरम गंतव्य 16 जिलो मे से एक है| यह अपनी सुन्दरता शांति के लिए जाना जाता है और यह अपने प्राचीन मंदिरो और ऐतिहासिक संरचनाओ जैसे गणेश मंदिर, आटे किले आदि के लिए प्रसिद्ध है| यह अपनी ऐतिहासिक भव्यता के उल्लेख के बिना अधूरी है| भिंड को इसका नाम संत भिंडी से मिला है| यह जिला 4,459 वर्ग किमी के क्षेत्र मे फैला हुआ है| लगभग सभी कृषि पद्धतियो को करने के लिए भिंड की मिटटी बहुत उपजाऊ और उपयुक्त है| यह सुन्दर रूप से सिंध, काली और चंबल नदियो के साथ – साथ कुंवारी और पुहुज की सहायक नदी से घिरा हुआ है| इसे अकसर राज्य के स्थानीय लोगो के साथ – साथ देश भर के पर्यटको द्वारा शान्ति की खोज में जाया जाता है| भिंड शहर जिला मुख्यालय है और उत्तर मे उत्तर प्रदेश के जालौन इटावा और झाँसी और आगरा जिले और पूर्व मे ग्वालियर, दक्षिण पश्चिम मे ग्वालियर और पश्चिम मे मुरैना से घिरा हुआ है|

भिंड क्यों जाए

प्राचीन मंदिरो , ऐतिहासिक संरचनाओ |


कैसे पहुंचे भिंड


सड़क मार्ग द्वारा

भिंड ग्वालियर से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है और शहर से सिर्फ 1 घंटे की ड्राइव पर है| यह कानपुर (185 किलोमीटर) , लखनऊ (265 किलोमीटर) , दिल्ली (332 किलोमीटर) और आगरा (132 किलोमीटर) जैसे शहरो से भी जुड़ा हुआ है|

रेल मार्ग द्वारा

इसका अपना रेलवे स्टेशन है जिसका नाम भिंड रेलवे स्टेशन है और यह दिल्ली , चंडीगढ़ ,गंगानगर , देहरादून , इलाहाबाद , जम्मू और मेरठ आदि प्रमुख शहरो से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है|

हवाई मार्ग द्वारा

निकटतम हवाई अड्डा ग्वालियर हवाई अड्डा (लगभग 1.5 घंटे) है,और इंदौर , दिल्ली , भोपाल , आगरा , मुंबई , जयपुर और वाराणसी आदि शहरो से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है| नजदीकी एयरपोर्ट: ग्वालियर एयरपोर्ट, ग्वालियर|