कोडुल्ली मे गंडेरट बंगला कन्नूर, डॉ। यह कालीकट अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से 97 किलोमीटर और कन्नूर रेलवे स्टेशन से 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। हरमन गौंडर, जर्मन मिशनरी, विद्वान और लेक्सियोग्राफर का घर था| वह 1819 और 1839 के बीच यहाँ रहे थे| यहीं पर पहला मलयालम शब्दकोश और मलयालम मे रोजाना की पहली खबर "पशिमोडियम" भी बनी| बंगला पर्यटको में ज्यादातर अपने ऐतिहासिक महत्व के कारण लुभाता यह साहित्य प्रेमियो और इतिहास प्रेमियो के लिए एक महत्वपूर्ण पड़ाव है| कन्नूर केरल के सबसे उत्तरी जिलो मे से एक है| ऐसा कहा जाता है कि इसका नाम प्राचीन गावं कनाथुर से से प्राप्त हुआ था| यह दो मलयालम शब्दो का एक विलय शब्द है "कन्नन" (भगवान कृष्ण) और "उरु" (स्थान) जिसका अर्थ है भगवान कृष्ण की भूमि| पश्चिमी घाट के साथ इसके पूर्व और पश्चिम मे अरब सागर यह भूमि प्राकृतिक सुन्दरता से भरपूर है| इसके प्राकृतिक समुंद्र तट, हिल स्टेशन, नदियाँ, बैकवाटर, ऐतिहासिक स्मारक और धार्मिक केन्द्र कन्नूर को पर्यटको के लिए बहुत पसंद करते है| यह केरल की कई लोक कलाओ और संगीत की जन्मभूमि भी है|