हुबली, धारवाड़

हुबली, धारवाड़
वाणिज्यिक केंद्र हुबली-धारवाड़ सांस्कृतिक कर्णाटक में "छोटा बॉम्बे" कहा जाता है। यहाँ का सबसे आदर्श और आकर्षण पहाड़ियों से लेकर विश्व धरोहर स्थलों से लेकर समुद्र तटों तक के मंदिरों तक, हुबली-धारवाड़ में वह सब कुछ है जो सभी पर्यटकों के मन को अच्छी लगती है हुबली और धारवाड़ दो अलग-अलग शहर हैं, लेकिन एक ही नगर निगम के अंतर्गत आता है। इन दोनों शहरों के बीच की दूरी महज 20 किलोमीटर है र्यटक इस अद्भुत गंतव्य पर अक्सर अपने सबसे अच्छे तरीके से सैर करने आते हैं। यहाँ पर पुराने इतिहास की गवाह कुछ अद्भुत वस्तुये इसे कर्नाटक के सबसे पसंदीदा स्थलों में से एक बनाता है।

हुबली, धारवाड़ क्यों जाए

हरे भरे पर्यावरण के बीच बना शहर हुबली-धारवाड़ एक बहुत ही निराला और दर्शनीय स्थलों की यात्रा ,आदर्श अवकाश गंतव्य के लिए प्रसिद्ध है |

हुबली, धारवाड़ घूमने का सबसे अच्छा समय

अक्टूबर से फरवरी


कैसे पहुंचे हुबली, धारवाड़


सड़क मार्ग द्वारा

सड़क कनेक्टिविटी : बंगलौर, मैसूर, मंगलौर, चेन्नई, हैदराबाद, और मुंबई सहित अन्य पास के शहरों में हुबली को जोड़ता है |

रेल मार्ग द्वारा

बैंगलोर, दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, चेन्नई और कोलकाता जैसे शहरों को जोड़ता हुबली रेलवे स्टेशन निकटतम है, जो बैंगलोर, दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, चेन्नई शहर के भीतर यात्रा करने के लिए बस या टैक्सी कर सकते है |

हवाई मार्ग द्वारा

बैंगलोर और मुंबई जैसे शहरों से जुड़ता हुबली में एक हवाई अड्डा है जो हलाकि दिल्ली, कोलकाता, हैदराबाद और चेन्नई जैसे शहरों तक पहुंचने के लिए बैंगलोर को एक पड़ाव लेना होगा। शहर में आपके वांछित स्थान तक पहुँचने के लिए हवाई अड्डे से नियमित बस सेवा और टैक्सी कर