जामनगर

जामनगर

रंगमती और नागमती के संगम पर स्थित, जामनगर गुजरात का एक औद्योगिक शहर है जहाँ आपको कई बड़ी बड़ी इमारते और किले देखने को मिलते है जिस पर हर गुजराती को गर्व है और इतिहास का एक अभिन्न हिस्सा, जिसने गुजरात की विशाल संस्कृति को आकार देने बहुत बड़ी भूमिका निभाई है और जिसकी स्थापना 1540 ईस्वी में जाम रावल के द्वारा की गई| इस शहर का मूल नाम नवावनगर था जिसे बाद में बदलकर जामनगर कर दिया गया और जहाँ सुंदर झीलों, एक आश्चर्यजनक समुद्र तट और प्राचीन संरचनाओं का भण्डार है| कोठा गढ़, लखोटा किला,भीड़ भंजन मंदिर,धूपघड़ी,जामसाहब महल, बोहरा हजीरा, शांतिनाथ मंदिर और बेट द्वारका बीच यहाँ के प्रमुख पर्यटन स्थल है|

शहर के अधिकांश स्मारक 1920 के दशक में महाराजा कुमार श्री रंजीतसिंहजी के शासनकाल के दौरान बनाए गए थे। यह शहर एक महत्वपूर्ण धार्मिक केंद्र भी है जहां कई मंदिरों के साथ इसका परिदृश्य दिखाई देता है। इसे 'छोटी काशी' के नाम से भी जाना जाता है। इसमें एस्सार ऑयल जैसे कारखाने भी हैं जो देश की एक बड़ी रिफाइनरी है।

जामनगर क्यों जाए

शिव मंदिर, जैन मंदिर, बाला हनुमान मंदिर,लखोटा महल,कोठा बस्ती

जामनगर घूमने का सबसे अच्छा समय

अक्टूबर से मार्च

जामनगर के पर्यटन, दर्शनीय स्थल

  1. स्वामीनारायण मंदिर
  2. भिडभंजन मंदिर
  3. खिजडिया पक्षी अभयारण्य
  4. हरसिद्धि मंदिर
  5. मरीना नेशनल पार्क
  6. मोटा आशापुरा माँ मंदिर
  7. लखोटा किला
  8. बेट द्वारका
  9. लखोटा झील पिरोटन द्वीप
  10. आराधना धाम
  11. भुजियो कोठो
  12. बेल हनुमान मंदिर

कैसे पहुंचे जामनगर


सड़क मार्ग द्वारा

सड़कों के अच्छे नेटवर्क से जामनगर गुजरात के विभिन्न शहरों जैसे अहमदाबाद, राजकोट, जूनागढ़, द्वारका, पोरबंदर आदि से आसानी से पहुँचा जा सकता है।

रेल मार्ग द्वारा

जामनगर का रेलवे स्टेशन इसे अहमदाबाद, दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और कई अन्य शहरों जैसे महत्वपूर्ण शहरों से जोड़ता है।

हवाई मार्ग द्वारा

निकटतम हवाई अड्डा अहमदाबाद में है जो घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय दोनों उड़ानों में कार्य करता है।