जगदलपुर

जगदलपुर

जगदलपुर राज्य छत्तीसगढ़ मे बस्तर जिले का प्रशासनिक मुख्यालय है| नगरनार स्टील प्लांट शहर से 16 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।| जगदलपुर अपनी हरियाली, गहरी घाटियो, हरे भरे, पहाड़ो घने जंगलो, झरनो, नदियो गुफाओ, शानदार स्मारको, प्राकृतिक पार्को समृद्ध प्राकृतिक संसाधनो, शानदार उत्सव और आनंदित एकांत से भरा हुआ है। सर्दियाँ काफी माध्यम जो इस जगह की यात्रा करने का सबसे अच्छा समय बनाती है| कला और शिल्प समय, समाज और संस्कृति का एक दस्तावेज है| आदिवासी और लोक उनकी कलात्मक कल्पना और सौन्दर्य की भावना दैनिक उपयोग की वस्तुओ और कलाक्रतियो को बनाते हुए भी काम है कला वास्तव मे उनके अस्तित्व का हिस्सा है| आदिवासी कलाकार और शिल्प व्यक्ति अपने अतीत की समर्ध परंपरा को जीवित रखे हुए है| कि वे मिटटी, लकड़ी, पत्थर, धातु इत्यादी को किस तरह से मनमोहक आक्रतियो रूपो और डीजाइनो में ढालते है| यहाँ लौह शिल्प की परंपरा पीढ़ी दर पीढ़ी चलने से आ रही है| और कौशल और रचनात्मक मे बेजोड़ है| क्षेत्र के धातु शिल्प मे अद्वितीय देहाती आकर्षण है| लोहे की मूर्तियो मे उत्कृष्ट, उत्पादो मे मुख्य रूप से सजावटी, पूजा और दिन _ प्रतिदिन के रहने वाले सामान शामिल है| यहाँ पाई जाने वाली कुछ जनजातियाँ गोंड, मुरियाँ, ह्लबस और अभुजमरिया है| गोड न केवल भारत का सबसे बड़ा आदिवासी समूह है, बल्कि बहुसंख्यक जनजातियाँ भी है| वे मुख्य रूप से खानाबदोश जिन्हे कोटोरिया भी कहते है ह्लबास राज्य मे आदिवासियो के बीच उनकी वेशभूषा, बोली और सामाजिक गतिविधियो के कारण उच्च स्थानीय स्थिति का आनंद लेते है| अभुजमरिया भोगोलिक दुर्गम इस जिले के अबुझमार पर्वत और कुटरुम पहाडियो के बीच है| प्रमुख पर्यटन आकर्षणो मे चित्रकोट जलप्रपात, तीरथगढ़ झरना, तमदा घूमर झरना, मेंद्री घूमर झरना,, चित्रधारा कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान, इंद्रावती राष्ट्रीय उद्यान, दलपत सागर झील और शामिल है।

जगदलपुर क्यों जाए

हरियाली , गहरी घाटियो , हरे भरे , पहाड़ो घने जंगलो , झरनो, नदियो गुफाओ , शानदार स्मारको , प्राकृतिक पार्को समृद्ध प्राकृतिक संसाधनो , शानदार उत्सव और आनंदित एकांत |

जगदलपुर के पर्यटन, दर्शनीय स्थल

  1. चित्रकोट जलप्रपात
  2. तीरथगढ़ झरना
  3. तमदा घूमर झरना
  4. मेंद्री घूमर झरना
  5. चित्रधारा कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान
  6. इंद्रावती राष्ट्रीय उद्यान
  7. दलपत सागर झील |