विजयवाड़ा

विजयवाड़ा

कृष्णा नदी के तट पर विजयवाड़ा कोलकाता से चेन्नई तक पूर्वी तट रेखा पर एक विशाल और प्रसिद्ध पर्यटन का मार्ग है अपने रसीले आमों, कई प्रकार के मीठे व्यंजनों और कई सुंदर झरनों के लिए प्रसिद्ध है। जो सबसे अनोखी सुविधाजनक जगह है, इंद्रकीला पहाड़ी पर कनक दुर्गा मंदिर, साथ ही दो 1000 साल पुराने जैन मंदिरों सहित कई महत्वपूर्ण हिंदू मंदिर जिनके दर्शन के लिए यहाँ पर भीढ़ लगी रहती है इसमें भगवान नटराज, विनायक और अन्य की मूर्तियाँ आकर्षण वाली होती है |विजयवाड़ा जीत की भूमि”है और इसका नाम शहर की देवी कनक दुर्गा के नाम पर रखा गया है समृद्ध इतिहास और सांस्कृतिक अतीत को दर्शाता है,यह शहर पर्यटकों को आधुनिक वास्तुकला और महानगरीय जीवन शैली को अनोखा रूप दिखाता है | विजयवाड़ा आंध्र प्रदेश राज्य का एक महत्वपूर्ण व्यापार और वाणिज्य केंद्र है |इसे मकिंसे क्वार्टरली द्वारा ग्लोबल सिटी ऑफ द फ्यूचर की मान्यता दी गयी है | कृष्णदेव राय तक कई राजवंशों के उत्थान और पतन को देखा है।