अनंतपुर

अनंतपुर

अनंतपुर जिले का मुख्यालय उत्तर भारत राज्य का सबसे बहती बड़ा निराला जिला है जो पूर्व में कडप्पा और चित्तूर द्वारा और कर्नाटक राज्य द्वारा दक्षिण और पश्चिम में है। और प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में से एक है लेपाक्षीविजयनगर राजाओं के भित्ति चित्रों की भव्य वास्तुकला और भंडार के लिए सबसे अनोखा और निराला पर्यटन मार्ग है जिसके देखने के लिए यहाँ पर वर्ष भर सभी घुमने के सभी स्थानों में कमी रहती है यहाँ के हंपी के पतन के बाद राजधानी विजयनगर थी|

प्रमुख अपने अधीनस्थों के रूप में शासन करते रहे। बाद में यह हैदर अली और टीपू सुल्तान के अधिकार में आ गया था जो अनंतपुर से 198 किमी दूर पर बना है। चिंटला वेंकटरमण स्वामी मंदिर और ताड़िपत्री में बुग्गा रामलिंगिंगेश्वर स्वामी मंदिर, जो जिले के कुछ प्रसिद्ध पर्यटन स्थल हैं।जिनको देखने के लिए भीढ़ उमड़ी रहती है| अंग्रेजों ने अनंतपुर को निज़ामों के साथ अपनी संधि का हिस्सा बना लिया। अनंतपुर जिले का गठन 1882 में हुआ था जब यह बेल्लारी जिले से अलग हो गया था। सर थॉमस मुनरो पहले कलेक्टर थे। यह कुरनूल द्वारा उत्तर में बसा राज्य का सबसे बड़ा जिला है|