दिल्ली के विशाल मां दुर्गा मंदिर .. जहाँ करें मां दुर्गा के दर्शन होगी हर मुराद पुरी

भक्तो सबको नवरात्री में पूरा जगत माँ की हर तरह से अपनी श्रधा और सामर्थ के अनुसार सेवा करते है माँ की सच्चे मन से आराधना पूजा फल, मिष्ठान खिलाते है मान्यताओ के अनुसार ऐसा कहा जाता है की माँ नवरात्रों में माँ को सच्चे मन से याद करता है माँ किसी न किसी रूप में आकार भक्तो को दर्शन अवश्य देती है और सभी मनोकामनाओ को पूरा करती है

भक्तो आज में आपको दिल्ली में सबसे सुन्दर मंदिरों के दर्शन की जानकरी देती हूँ

प्रसिद्ध कालकाजी मदिर

दिल्ली के नेहरु प्लेस की भूमि के पास कालकाजी देवी का स्थल है यहाँ के इस मंदिर में देवी काली जी की विशाल मूर्ति है यह मनोकामना का प्राचीन धार्मिक स्थल है देवी काली जो है नव देवियों के नव अवतारों में से एक प्रसिद्ध देवी है यह देवी दुष्टों का नाश करती है और उनके रक्त को अपना भोजन करती है यहाँ काली सबकी इच्छा पूरी करती है यह बहुत रोचक मंदिर है मंदिर बहुत भव्य और संगमरमर का बना हुआ है हरे भरे पर्यावरण में मंदिर बहुत सुन्दर लगता है नवरात्री में यहा पर माता के श्रंगार की पूजा सामग्री की दुकाने लगती है यहाँ दर्शन के बाद बहुत ही स्वादिष्ट प्रसाद मिलता है विशेष त्योहारों पर यहाँ पर देवी का अखाड़ा निकलता है माँ का भंडारा होता है

दिल्ली की गुफा वाली देवी

सन 1987 -1994 के बीच में बना यह दिल्ली की भूमि को पवित्र बनाने वाला यह धार्मिक स्थल प्रीत विहार इलाके में अपनी खूबसूरती की दिखता हुआ आज भक्तो की आस्था का गहरा केंद्र बना गया है यहाँ की देवी गुफा के नाम से पूरे भारत में प्रचलित है गुफा में बहुत सारी देविया एक साथ अपना स्थान दरबार सजा का भक्तो की हर इच्छा को पूरा करती है गुफा में मां चिंतपूर्णी, माता कात्यायनी, संतोषी मां, लक्ष्मी जी, ज्वाला जी की प्रतिमा है गुफा में शीतल, शुद्ध जल की धारा दिन रात बहती रहती है

जो देवी योगमाया को समर्पित है माता का मंदिर

युगों से प्राचीन रहस्मय देवी जो दिल्ली में महरोली की धरा पर क़ुतुब कॉम्प्लेक्स से पास में योगमाया मंदिर है यह की देवी के दर्शन करने के लिए कोने कोने से लोग यहाँ पर आकर देवी के सामने अर्जी लगाते है माँ को श्रंगार का सामान चढाते है जो देवी योगमाया को समर्पित है।यह मंदिर दिल्ली में अभी का नहीं बना है योगमाया देवी जो महा भारत के समय से यहाँ पर विराजमान है आप नवरात्री में इस मंदिर के दर्शन करने अवश्य जाये

छतरपुर मंदिर

माता भक् त नागपाल के द्वारा बनाया गया यह मंदिर छतरपुर की भूमि पर है यह सबसे प्रचीन दर्शन का स्थल है यहाँ पर देवी कात् यायनी की पिजा की जाती है जो दुगा का 6 वा रूप माना जाता है मंदिर में बहुत सुन्दर कलाकारी नक्कासी की गयी है मंदिर में सजावट के लिए ऊँची ऊपर त्रिकोर वाली चोटी बनी है देवी के दर्शन करने के लिए हर जाति के लोग यहाँ पर आते है

मंदिर सफ़ेद पत्थर से बना हुआ है जो रात में बहुत चमकता है मंदिर का वातावरण प्राकतिक है मंदिर छोटे छोटे खूब सारे स्थान बने हुए है

दिल्ली की झण्डे वाली माता

धर्म का सबसे बड़ा स्थान जहाँ पर देवी से कहने पर सभी मनोकामना पूरी होती है इच्छा पूरी हो जाने पर देवी की मंदिर में भक्त झन्डा बांधते है यहां हजारों की संख्या में दर्शन की लम्बी कतार लगी रहती है नवरात्रों में झण्डे वाली माता के भक्तो की भीर डबल हो जाती है मंदिर में आरती के बाद भोग लगता है देवी की जल की बूंदों से पुजारी मंदिर को भक्तो को पवित्र कर देता है

मंदिर दिल्ली के पहाड़ गंज में झंडेवालान छेत्र में बना हुआ है झंडेवालान देवी का यह स्थान ऐतिहासिक महत्व रखता है मंदिर के पास हरियाली की कमी नहीं है बेशुमार हरियाली है नवरात्रों में आस-पास के शहरों, गांवों और कस्बों से लोग भी आते है

Delhi